चारधाम यात्रा- कर्तव्य का निर्वहन करती उत्तराखंड पुलिस

चारधाम यात्रा- कर्तव्य का निर्वहन करती उत्तराखंड पुलिस

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- उत्तराखंड में चारधाम यात्रा शुरू होने के साँथ ही यात्रियों और पर्यटकों का उत्तराखंड आना शुरू हो गया है।
पुलिस प्रशासन भी पूरी तरीके से अलर्ट मोड में नजर आ रहा है यात्रियों को किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो इसको लेकर पुलिस के आला अधिकारी खुद मैदान में उतर चुके हैं।

डीजीपी अशोक कुमार का कहना है कि हम पर्यटकों की सुविधाओं का पूरी तरीके से ध्यान रख रहे हैं इसके साँथ ही उन्होंने तीर्थ यात्रियों से अपील की है कि जो भी तीर्थयात्री उत्तराखंड आ रहे हैं वह अपना रजिस्ट्रेशन जरूर कराएं क्योंकि यात्रियों की भारी भीड़ को देखते हुए बिना रजिस्ट्रेशन आने वाले यात्रियों को लौटाया जा रहा है।
हालांकि उन्होंने यह भी कहा है कि जो भी यात्री उत्तराखंड आए हैं वह अपना रजिस्ट्रेशन कुछ दिन बाद का करवा लें जिससे कि उन्हें चारधाम यात्रा करने में किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना ना करना पड़े।
उत्तराखंड में 2 साल बाद शुरू हुई चारधाम यात्रा को लेकर जहां यात्रियों में उत्साह देखने को मिल रहा है वहीं दूसरी ओर मित्र पुलिस की एक अलग तस्वीर भी सामने आ रही है उत्तराखंड की मित्र पुलिस यात्रा मार्गों पर अपनी सेवाएं देने के साथ ही चारधाम में भी यात्रियों को सुविधा मुहैया करवा रही है।

जहां एक तरफ पुलिस का नाम सुनकर लोगों में दहशत का माहौल दिखाई देने लगता है वहीं दूसरी और उत्तराखंड की मित्र पुलिस की ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं जिसमें पुलिस के प्रति डर नहीं सम्मान की भावना दिखाई दे रहा है। कई बुजुर्ग ऐसी स्थिति में चार धामयात्रा में पहुंच रहे हैं जो चलने फिरने में असमर्थ हैं उत्तराखंड की मित्र पुलिस अपना मानवीय कर्तव्य निभाते हुए उन्हें अपने कंधों पर उठाकर चारों धाम में दर्शन करवाने का काम कर रही है। ऐसे में साफ है कि उत्तराखंड में जो भी यात्री पहुंच रहे हैं उन्हें किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि उत्तराखंड की मित्र पुलिस चप्पे-चप्पे पर तैनात है और वाह बुजुर्ग अस्वस्थ लोगों को अपनी जिम्मेदारी समझते हुए दर्शन करवाने का काम कर रही है।

दूसरी ओर पुलिस का एक और चेहरा सामने नजर आ रहा है जहां पर बुजुर्ग महिला अपने परिजनों से पिछड़ने के बाद परेशान होते हुए उत्तराखंड की पुलिस के पास सहायता लेने जाती है और उत्तराखंड की मित्र पुलिस ने अपना कर्तव्य निभाते हुए उन्हें उनके गंतव्य तक पहुंचाने में मदद की ऐसे में साफ है कि जो भी यात्री चारधाम यात्रा में आ रहे हैं उन्हें मित्र पुलिस द्वारा लगातार सहायता दी जा रही है।

उत्तराखंड