जग घूमे भगवान,हाथों में जगन्नाथ,सुभद्रा और बलराम- दिल में श्रद्धा,होठों पे प्रभु गुणगान- एक भक्ति ऐसी भी

जग घूमे भगवान,हाथों में जगन्नाथ,सुभद्रा और बलराम- दिल में श्रद्धा,होठों पे प्रभु गुणगान- एक भक्ति ऐसी भी

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- अक्सर हम और आप ईश्वर के दर्शनों के लिये मंदिरों में जाते हैं तीर्थ करते हैं और प्रभु दर पर स्तुति करते हैं लेकिन आज हम आपको ऐसे भक्त से मिला रहे है जिसने ईश्वर को दिल में बसा लिया और पूरे जग को तीरथ।

हम बात कर रहे हैं दिल्ली की रहने वाली भावमयी राधिका देवी दासी जो भगवान जगन्नाथ को कि कृष्ण का स्वरूप हैं सुभद्रा और बलदेव को भ्रमण करा रही हैं हाथों में सुंदर आसान और उसमें विराजमान देव जिन्हें राधिका देवी अपने बच्चों की तरह भ्रमण करा रही हैं।
राधिका बताती हैं वो इन्हें बच्चों के रुप में मानती हैं अपनी आस्था के वशीभूत वो इनकी इच्छापूर्ति के लिये इन्हें जगह-जगह घूमा रही हैं और ईश्वर की जो अनुभूति उनको होती है वो हर अहसास से परे है उनके चेहरे का तेज और ईश्वर के प्रति आस्था यही बयां करती है…….
पकड़ लो हाथ मेरा प्रभु
जगत में भीड़ भारी है।
कहीं मैं खो ना जाऊ
जिम्मेदारी ये तुम्हारी है।।
हम भी इस अनोखी भक्ति को नमन करते हैं सच ही कहा कण-कण में प्रभु का वास है जो जिस रूप में ईश्वर नाम भजे उसी में उसकी आस है।।।

उत्तराखंड