प्रसिद्ध बग्वाल मेले का आगाज- 12 अगस्त राखी के दिन खेली जायेगी एतिहासिक बग्वाल

प्रसिद्ध बग्वाल मेले का आगाज- 12 अगस्त राखी के दिन खेली जायेगी एतिहासिक बग्वाल

रिपोर्ट- चम्पावत ब्यूरो
चम्पावत-(उत्तराखंड)- चम्पावत जिले के देवीधुरा में लगने वाले मां बाराही धाम के बग्वाल मेले का आज सोमवार को पूरे विधि विधान से शुभारंभ हो गया है।
उत्तराखंड वन विकास निगम के अध्यक्ष कैलाश गहतोड़ी ने पूरे मॉ बाराही देवी की पूजा अर्चना के साँथ ही एतिहासिक मेले का शुभारंभ किया।
मेले में होने वाली सुप्रसिद्ध पत्थर होली अर्थात बग्वाल आने वाली 12 अगस्त रक्षा बंधन के दिन खेली जायेगी जिसको लेकर भक्तों में खासा उत्साह है।
कोरोना काल के दौरान दो साल प्रतीकात्मक बगवाल हुई लेकिन इस बार मेले का भव्य रूप से आयोजन किया गया है मेले में धार्मिक कार्यक्रमों के अलावा सांस्कृतिक गतिविधियां भी होंगी।
मेले के लिए मां बाराही देवी के मंदिर को आठ क्विंटल फूलों से सजाया गया है।

मेले का उद्घाटन करने पहुंचे वन विकास निगम के अध्यक्ष कैलाश गहतोड़ी ने कहा कि बाराही माता की कृपा है कि उत्तराखंड को पुष्कर सिंह धामी जैसा मुख्यमंत्री मिला है जिनका संकल्प कुमाऊं क्षेत्र के सभी मंदिरों एवं तीर्थ स्थलों को सामूहिक रूप से विकसित किया जाना है और आने वाले समय में क्षेत्र के जितने भी तीर्थ स्थल हैं उनमें आवश्यकतानुसार विकास कार्य किए जायेंगे जिससे क्षेत्र की संस्कृति को संरक्षित किया जा सके।
गहतोड़ी ने कहा मुख्यमंत्री धामी द्वारा देवीधुरा में लगने वाले मां बाराही मेले को राजकीय मेला घोषित किया गया है जिसके लिये क्षेत्र की समस्त जनता उनका आभार प्रकट करती है।

उत्तराखंड