आवारा कुत्तों के पालनहार बने रितेश- कोरोना काल में हर रोज 200 से ज्यादा कुत्तों को खिला रहे खाना

आवारा कुत्तों के पालनहार बने रितेश- कोरोना काल में हर रोज 200 से ज्यादा कुत्तों को खिला रहे खाना

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- “यही पशु प्रवृति है कि आप,आप ही चरे,मनुष्य वही है जो मनुष्य के लिये मरे”
आज हम आपको नैनीताल के रितेश सागर की मानवता की मिशाल देती उस तस्वीर से रुबरु करा रहे हैं जिसमें पशुओं के लिये गजब प्रेम छलक रहा है।

दरअसल पर्यटन नगरी में हजारों की संख्या में आवारा कुत्ते हैं जिनके भोजन का एकमात्र जरिया होटल रेस्ट्रोरेंट का बचा खाना था लेकिन कोरोना काल में होटल बंद होने से इनके खाने का कोई जरिया नही रहा ऐसे में इन कुत्तों की सुध ली रितेश सागर ने।
रितेश ने न केवल अपने स्तर पर इनको खाना खिलाना शुरू किया बल्कि इसके लिये उन्होंने लोगों से फेसबुक के जरिये मदद भी मांगी जिसमें कई लोग मदद के लिये आये रितेश रोजाना 200 से ज्यादा कुत्तों को खाना खिला रहे हैं उनकी इस पहल से कुत्तों को खाना तो मिल ही रहा है साथ ही उनकी आक्रामकता भी कम हो रही है।


इस कोरोना काल में बेजुबान कुत्तों को खाना खिलाना वास्तव में मानवता की मिशाल है क्योंकि पशु कोई चीज नही बल्कि जीवित जीव है जो हमारी करुणा,सम्मान,दोस्ती व समर्थन के योग्य है और इस बुरे दौर में जब इंसान अपने जीवन के लिये जूझ रहा है वहाँ कुत्ते भूखे न मरे इसके लिये रितेश की पहल सराहनीय है क्योंकि इनकी भूख मिटाना पुण्य है और पशु बिना अल्फाजों के दुआ देते है और दुवाओं में बहुत असर होता है।।

उत्तराखंड