नर्सो ने काला फीता बांधकर किया विरोध

नर्सो ने काला फीता बांधकर किया विरोध

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- नर्सो ने शासन व महानिदेशालय पर उनकी अनदेखी करने का आरोप लगाते हुवे विरोध में उत्तराखंड नर्सेज सर्विसेज एसोसिएशन के तत्वाधान में मंगलवार को नैनीताल के बीडी पाण्डे अस्पताल और रैमजे अस्पताल की नर्सों ने काला फीता बांधकर अपना विरोध दर्ज किया तथा चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों का जल्द निस्तारण नहीं हुआ तो वह आंदोलन करने पर मजबूर होंगे।

नर्स अमृता रानी विश्वास ने कहा कि हर माह जोखिम भत्ता,केंद्र की भांति नर्सेज का पदनाम बदलने,केंद्र की भांति नर्सिंग भत्ता हर माह 72 सौ रूपए देने,हर महीने वर्दी भत्ता के तौर पर 1800 रुपए देने, स्टाफ नर्स को पूर्व की भांति पूर्ण वेतन पर पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग कराने, आईपीएचएस के मानकों के अनुसार नर्सेज की स्थायी नियुक्ति करने,नर्सेज की पदोन्नति करने व नर्सों की नियुक्ति आउटसोर्स ने करने की मांग की है।


नर्सों ने कहा कि वो 30 सितम्बर तक काली पट्टी बांधकर अपना विरोध व्यक्त करेंगी और चेतावनी दी कि यदि इस अवधि में उनकी मांगों पर सकारात्मक निर्णय नहीं लिया जाता है तो कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया जाएगा वहीं उन्होंने सरकार द्वारा एक दिन का वेतन काटने पर भी रोष जाहिर किया।
इस दौरान विशाल मार्टिन, निर्मला जोशी,सरस्वती पाठक, बृजेश गंगवार,रजत गिरी,नेहा शर्मा,गुंजन सिंह आदि मौजूद रहे।

उत्तराखंड