मानवता का फर्ज निभाती- श्वेता कांडपाल

मानवता का फर्ज निभाती- श्वेता कांडपाल

रिपोर्ट- संतोष बोरा
भीमताल-(नैनीताल)- कोविड के बढ़ते प्रहार के चलते पूरे प्रदेश में लॉकडाउन घोषित किया गया है जिसके चलते बीते वर्ष की तरह एक बार फिर से इस वर्ष भी असहाय व जरूरतमंद लोगों में खाने-पीने व दवाइयों का संकट मंडराने लगा है जिसको लेकर कई सामाजिक संगठन इस महामारी के दौरान निस्वार्थ भाव से जनसेवा में जुट चुके है।
आर्ट ऑफ लिविंग की ओर से भी महामारी के दौरान एक मुहिम चलाई जा रही है जिसमें वे लोगों को कोविड़ के बाद कैसे अपना ध्यान रखना है, कैसे अपने ब्लड में आक्सीजन लेवल को बढ़ाए, lungs की क्षमता को कैसे बढ़ाएं,ऐसे नकारात्मक माहौल में कैसे सकारात्मक रवैया अपनाएं,कैसे प्रसन्नचित्त रहें, अपनी इम्यूनिटी को कैसे बढ़ाएं इसके लिए निशुल्क तीन दिवसीय क्लास दी जा रही है।


भीमताल निवासी आर्ट ऑफ लिविंग की शिक्षिका श्वेता कांडपाल व भूषण तिवारी ने भी अपने जनपद से दूर बागेश्वर जनपद में एक कोरोना पीड़ित परिवार की मदद कर मानवता का फर्ज अदा किया है।
श्वेता कांडपाल ने बताया कि उनके द्वारा कोरोना संक्रमित मरीजों व उनके परिजनों को 3 दिन का ऑनलाइन निशुल्क योगा क्लास दी जाती है इसी के तहत वे बागेश्वर के एक कोरोना पीड़ित को फोन कर योगा क्लास के लिए रजिस्ट्रेशन कराने को कहा तो उन्होंने अपनी पीड़ा को उनके साथ साझा किया उन्होंने बताया कि कोरोना के चलते सभी लोग क्वॉरेंटाइन हैं। जिसकी वजह से अब उनके पास खाने-पीने की चीजें भी उपलब्ध नहीं है जिस पर डॉक्टर श्वेता कांडपाल ने मानवता का फर्ज अदा करते हुए बागेश्वर में जिला प्रशासन तथा कुछ स्थानीय लोगों की मदद से पीड़ित परिवार की मदद की जिसके बाद पीड़ित परिवार तथा स्थानीय प्रशासन द्वारा श्वेता कांडपाल का धन्यवाद किया।

उत्तराखंड