नशे से बर्बाद होती युवा पीढ़ी

नशे से बर्बाद होती युवा पीढ़ी

रिपोर्ट- नैनीताल
हाईकोर्ट के अधिवक्ता व भारतीय जागरूकता समिति के अध्यक्ष ललित मिगलानी ने युवाओ को सचेत करते हुए बताया कि आज के वक्त में युवाओ को संभालना एक चुनौती बनती जारही है और आज अधिकांश युवा छोटे से लालच में नशे की तरफ बढ़ रहे है जो उनको हर प्रकार से नुकसान कर रहा है।नशे के कारोबारी युवाओं की कमजोरी का फायदा उठा कर उनको प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से इस दलदल में डाल रहे है युवाओं को ये जानना जरुरी है कि अगर वो कोई भी नशा करते है तो वो अपने शरीर के साथ-साथ आर्थिक रूप से भी हानि करता है जिससे उनका शरीर व परिवार दोनों ही बर्बाद हो जाते है इस हानि की भरपाई भी नहीं हो पाती।

वहीं दूसरी तरफ जो युवा नशे के कारोबार में जकड़ जाते वो कानून के रूप में अपराधी होते है किसी भी नशे को खरीदना व बेचना कानून में अपराध है जिसकी सजा कानून में दस साल से लेकर उम्र कैद तक होती है और ये अपराध समाज के विरूद्ध अपराधों में गिना जाता है जो सामाजिक दृष्टिकोण से भी अच्छा नहीं है।


मिगलानी ने समाज के हर वर्ग से ये अपील करी है कि वो हर जगह जाकर युवाओं में नशे के दुश परिणाम के बारे में जागरूकता फैलायें और उनको नशे से दूर रखने की नसीहत दें तभी समाज में बढ़ रहे नशे के कारोबार को जड़ से खत्म किया जा सकता।

उत्तराखंड