भारतीय संविधान की प्रस्तावना में न्यायसंगत परिवर्तन की मांग- शंकराचार्य परिषद के सभापति आनंद स्वरूप ने राष्ट्रपति को भेजा पत्र

भारतीय संविधान की प्रस्तावना में न्यायसंगत परिवर्तन की मांग- शंकराचार्य परिषद के सभापति आनंद स्वरूप ने राष्ट्रपति को भेजा पत्र

रिपोर्ट- हरिद्वार ब्यूरो
हरिद्वार-(उत्तराखंड)- शंकराचार्य परिषद के प्रमुख स्वामी आनंद स्वरूप ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर संविधान की मूल प्रस्तावना में सेक्युलर की जगह हिंदुत्व शब्द शामिल करने की मांग की है।
स्वामी आनंद स्वरूप के अनुसार जल्द से जल्द केंद्र सरकार भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित करे।

स्वामी आनंद स्वरूप के अनुसार आपातकाल के दौरान देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने कूटनीति से संविधान में हिन्दुत्व की जगह सेक्युलर शब्द जोड़ दिया था ऐसे में देश के प्रधानमंत्री,गृहमंत्री और कानून मंत्री इसके लिए आवश्यक कदम उठाएं।
स्वामी ने कहा देश का बंटवारा धर्म के आधार पर हुआ था जिसके बाद अगर पाकिस्तान इस्लामिक राष्ट्र बन सकता है तो भारत हिन्दू क्यों नही? शंकराचार्य परिषद जल्द ही देशभर के दस हज़ार साधू संतों के ज्ञापन राष्ट्रपति को भेजेगा।


इस मौके पर कोंग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह की धारा 370 के संबंध में वायरल हुई ऑडियो पर भी स्वामी आनंद स्वरूप ने निशाना साधा और उन्हें राष्ट्रद्रोह के तहत गिरफ्तार कर जेल में डालने की भी मांग की है।

उत्तराखंड