गंगा दशहरा के स्नान पर पाबंदी- हरिद्वार में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर लगी रोक

गंगा दशहरा के स्नान पर पाबंदी- हरिद्वार में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर लगी रोक

रिपोर्ट- हरिद्वार ब्यूरो
हरिद्वार-(उत्तराखंड)- गंगा दशहरा व निर्जला एकादशी स्नान के पावन पर्व पर अगर आप भी गंगा में पुण्य की डुबकी लगाने की सोच रहे है तो हरिद्वार आने से पहले उत्तराखण्ड सरकार की कोविड गाइडलाइन को जरूर देख लें उत्तराखंड सरकार की कोरोना गाइडलाइन के अनुसार 20 जून को पड़ने वाले गंगा दशहरा पर्व पर बाहरी राज्यों के श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी है इतना ही नही इस बार स्थानीय श्रद्धालु भी गंगा दशहरा पर हर की पौड़ी पर स्नान नही कर पाएंगे।

22 जून तक पूरे राज्य में कोविड कर्फ्यू लागू है लिहाजा हर की पौड़ी पर पूजा पाठ व धार्मिक अनुष्ठानों के लिए केवल तीर्थ पुरोहितों को ही हर की पौड़ी पर जाने की इजाजत होगी।
माँ गंगा के अवतरण दिवस के रूप में मनाए जाने वाले पर्व गंगा दशहरा स्नान के मौके पर हरिद्वार में गंगा स्नान करने के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमङती है।


मान्यता है कि गंगा दशहरा के दिन ही माँ गंगा धरती पर अवतरित हुई थी और भागीरथ के पुरखों का उद्धार किया था। गंगा दशहरा के दिन हरकी पौङी स्थित ब्रह्मकुंङ में स्नान करने का विशेष महत्व माना जाता है यही वजह है कि यहाँ हर वर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालु गंगा जी में आस्था की डुबकी लगाने पहुंचते थे मगर इस बार कोविड़ के चलते सभी से घरों पर रह कर ही माँ गंगा का पूजन करने की अपील प्रशासन द्वारा की गई है।

उत्तराखंड