कूड़े के ढेर पर योग?

कूड़े के ढेर पर योग?

रिपोर्ट- हल्द्वानी ब्यूरो
हल्द्वानी-(नैनीताल)- 7वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर उत्तराखंड के हल्द्वानी से एक अलग ही तस्वीर सामने आई है यहाँ लोगों ने लाखों टन कूड़े के ढेर पर योग कर सिस्टम और सरकार को चेताने का काम किया है।
योग दिवस पर जहां लोग साफ-सुथरी जगहों पर योग करके अपने मन और मस्तिष्क को स्वस्थ व ताजा करने में लगे हुए हैं तो वही हल्द्वानी में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लाखों टन कूड़े के ढेर में योग करने को मजबूर हैं।
हल्द्वानी के इंदिरा नगर स्थित टचिंग ग्राउंड में बड़े पैमाने पर प्रतिदिन कई शहरों का लाखों टन कूड़ा फेंका जाता है और जिसके चलते यहां पर कूड़े का पहाड़ बन गया है उसी पहाड़ रूपी कूड़े के ढेर पर वनभूलपुरा के कुछ लोग योग करते हुए सरकारी सिस्टम को आईना दिखाने में लगे हुए हैं।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर लोगों ने तमाम योग क्रियाओं को कर अपने मन मष्तिक को स्वस्थ रखने की कोशिश की लेकिन वनभुलपुरा के लोगों ने गंदगी से भरे इस कूड़े के ढेर से निकलने वाली बदबू में योग कर कई सवाल खड़े कर दिये।


लोगों का कहना है कि जिस जगह पर कूड़े का ढेर है है वहां पहले खाली मैदान हुआ करता था जिसमें बच्चे खेलते थे लेकिन नगर निगम व राज्य सरकार ने इस मैदान में बहुत बड़ा ट्रेंचिंग ग्राउंड बना दिया जहां पर प्रतिदिन लाखों टन कूड़ा और गंदगी फेंकी जाती है जिसके चलते लोगों को सांस लेने में काफी दिक्कतें हो रही हैं और विगत 8 या 10 सालों में कई लोगों की जान भी इसी गंदगी के चले गई है।
उम्मीद करते है कि सरकार व सिस्टम इन लाचार लोगों की सेहत व प्रदूषित होते वातावरण को ध्यान में रखते हुवे कोई बीच का रास्ता जरूर निकालें जिससे कि लोगों का जीवन सुरक्षित हो सकें और लोग शुद्ध आबोहवा के बीच जीवन यापन कर सकें।

उत्तराखंड