Exclusive- नन्हे लेखक का करिश्मा- कल्पनाओं को शब्दों में पिरोकर लिखी किताब- एडवेंचर,फ्रेंडशिप और मैजिक से भरपूर किताब लेखक की असीमित प्रतिभा की मिशाल

Exclusive- नन्हे लेखक का करिश्मा- कल्पनाओं को शब्दों में पिरोकर लिखी किताब- एडवेंचर,फ्रेंडशिप और मैजिक से भरपूर किताब लेखक की असीमित प्रतिभा की मिशाल

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- कहते है प्रतिभा जल वायु के वेग की भांति हो जाती है प्रतिभा की ऐसी ही मिशाल नैनीताल के विपुल जोशी ने कायम की है।
13 वर्षीय विपुल सेंट जोसफ कॉलेज में आठवीं के छात्र है उनके पिता विपिन चंद्र जोशी नैनीताल हाईकोर्ट में रिव्यू ऑफिसर हैं और माता सुनीता जोशी शिक्षिका है।

विपुल को बचपन से ही पढ़ने का शौक रहा है विपुल बताते हैं कि कोर्स के अलावा वो कहानियां आदि पढ़ते रहते हैं विपुल के इसी शौक ने उन्हें कल्पनाओं के असीमित संसार से जोड़ दिया अपनी कल्पनाओं में दोस्ती,मैजिक और एडवेंचर को पिरोकर विपुल ने एक सुंदर कहानी रच डाली।


“Gary’s Adventures Tures- The Elixir Of Immortality” नाम की इस किताब में गैरी नाम का बच्चा हीरो है जो माता पिता द्वारा बनाये गये अमृत को खोज रहा है कहानी में एडवेंचर है,दोस्ती है और मैजिक भी है कहानी इंसान और जानवर के बीच पारस्परिक संबंध और प्रेम को भी दर्शाती है।
काल्पनिक घटनाओं पर आधारित ये किताब इस नन्हे लेखक की प्रतिभा की मिशाल है।

लॉकडाउन में जहाँ बच्चें मानसिक अवसाद का शिकार हो रहे हैं वहीं विपुल ने लॉकडाउन के इस समय को अपनी प्रतिभा संवारने में लगाया।
पढ़ने लिखने का शौक तो था ही लेकिन स्कूल के कारण लिखना संभव नहीं हो पाया लेकिन लॉकडाउन में विपुल को पूरा समय मिला जिसका उन्होंने भरपूर इस्तेमाल किया।
आज विपुल की कल्पनाएं कहानी के रुप में हमारे सामने है विपुल भविष्य में इसकी पूरी सीरीज लिखना चाहते हैं उनके माता पिता भी उनकी इस उपलब्धि से बेहद खुश हैं।

उत्तराखंड