जल संस्थान के संविदा कर्मचारियों ने आत्मदाह करने की दी चेतावनी

जल संस्थान के संविदा कर्मचारियों ने आत्मदाह करने की दी चेतावनी

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल-उत्तराखंड जल संस्थान संविदा श्रमिक संघ द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन के तहत गुरुवार से नैनीताल जल संस्थान शाखा में संविदा कर्मचारी अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार पर बैठ गए हैं। शनिवार तीसरे दिन भी कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर धरना स्थल में धरने पर बैठे रहे।
अध्यक्ष अमर सिंह ने कहा है कि बीते तीन दिनों से संविदा कर्मचारी धरने पर बैठे है और अभी तक किसी ने भी हमारी सुध नही ली है और अगर जल्द हमारी मांगों पर गौर नही किया गया तो हम लोग आत्मदाह करने पर मजबूर होंगे।
शाखा अध्यक्ष अमर सिंह ने बताया कि बीते 20-25 वर्षों से ठेकेदार के माध्यम से कार्यरत आउट सोर्स कर्मिक जो अपनी आयु सीमा भी पार करने जा रहे हैं या कर चुके हैं उन लोगों को रिक्त पदों पर वरिष्ठता के आधार पर नियुक्ति दी जाए।


उन्होंने कहा कि विभाग में एक ही कार्य करने वाले नियमित कार्मिक को 35 हजार रुपए प्रतिमाह मिलता है जबकि आउटसोर्स कर्मियों को वही कार्य करने के लिए 7 हजार से 8 हजार रुपए तक दिया जाता है। इसलिए समान काम लागू किया जाना चाहिए। वही आउट सोर्स कर्मचारियों को साप्ताहिक व राजकीय अवकाश अवकाश दिया जाना चाहिए। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए उत्तराखंड जल संस्थान के आउट सोर्स के माध्यम से कार्यरत कर्मियों को कम से कम 25 हजार प्रति माह वेतन दिया जाना चाहिए।
इस दौरान सितम बाल्मीकि, शाखा अध्यक्ष अमर सिंह, दयाल कांडपाल,शंकर लाल, नरेश कुमार,अर्जुन कुमार, कमल सिंह बिष्ट,राजेंद्र बिष्ट, प्रदीप बिष्ट,संदीप कुमार, दीवान सिंह राणा,दयाल सिंह, सुदेश कुमार,चरणजीत सिंह बिष्ट,संदीप कुमार आदि कर्मचारी मौजूद रहे।

उत्तराखंड