हाईकोर्ट में डीपी यादव की अपील पर सुनाया निर्णय- कोर्ट ने निचली अदालत के आदेश को निरस्त कर यादव को बाइज्जत बरी करने के दिए आदेश

हाईकोर्ट में डीपी यादव की अपील पर सुनाया निर्णय- कोर्ट ने निचली अदालत के आदेश को निरस्त कर यादव को बाइज्जत बरी करने के दिए आदेश

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- हाईकोर्ट ने बुधवार को यूपी के बाहुबली नेता पूर्व सांसद डीपी यादव सहित तीन अन्य को गाजियाबाद के विधायक महेंद्र भाटी की हत्या का दोषी पाते हुए देहरादून की सीबीआई कोर्ट द्वारा दी गयी आजीवन कारावास की सजा के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई कर फैसला सुनाया। मुख्य न्यायधीश की अध्यक्षता वाली खण्डपीठ ने डीपी यादव की अपील पर अपना निर्णय सुनाते हुए निचली अदालत के आदेश को निरस्त कर दिया है।कोर्ट में उनके खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं पाते हुए उन्हें बाई इज्जत रिहा करने के आदेश दिए हैं।
डीपी यादव अभी अतंरिम जमानत पर भी है कोर्ट ने इस हत्याकांड के अन्य आरोपियों की अपीलों में निर्णय सुरक्षित रखा हुआ है।
सुनवाई मुख्य न्यायधीश न्यायमूर्ति आरएस चौहान व न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में हुई।


मामले के अनुसार 13 सितम्बर 1992 को गाजियाबाद के विधायक महेंद्र भाटी की हत्या हो गयी थी।
डीपी यादव, परनीत भाटी, करन यादव व पाल सिंह उर्फ लक्कड़ पाला पर हत्या के आरोप लगे।
15 फरवरी 2015 को देहरादून की सीबीआई कोर्ट ने चारों को हत्या का दोषी पाते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनवाई थी।
इस आदेश को चारों अभियुक्तों द्वारा हाईकोर्ट में चुनौती दी गयी है।

उत्तराखंड