विहिप का मंथन- धर्मांतरण,पत्थरबाजी,मठ मंदिरों की सुरक्षा व समान नागरिक संहिता पर चर्चा

विहिप का मंथन- धर्मांतरण,पत्थरबाजी,मठ मंदिरों की सुरक्षा व समान नागरिक संहिता पर चर्चा

रिपोर्ट- हरिद्वार ब्यूरो
हरिद्वार-(उत्तराखंड)- हरिद्वार के निष्काम सेवा ट्रस्ट आश्रम में विश्व हिंदू परिषद की केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक आयोजित हुई।
आज पहले दिन कुटुंब प्रबोधन विषय पर चर्चा की गई।
बैठक में मौजूद साधु संतो और विहिप नेताओ ने धर्मांतरण, पत्थरबाजी,ज्ञानवापी,मठ मंदिरों की सुरक्षा और सामान नागरिक संहिता समेत कई विषयों पर विचार रखे।

कल यानी 12 जून को बैठक के दूसरे दिन इन मुद्दों पर कई अहम प्रस्तावों पर मुहर लगने की उम्मीद है।
बैठक से देशभर से आये साधु संतो ने देश में हो रहे धर्मांतरण को गलत बताया।
परमार्थ निकेतन आश्रम के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद मुनि ने कहा कि जुम्मे की नमाज जिम्मेदारी की नमाज होती है, नमाज के दिन समाज में पत्थरबाजी करना गलत है। उन्होंने धर्म विशेष के लोगो से संविधान का पालन करने की अपील की और कहा कि लोगों को शरीयत के साथ साथ शराफत का पालन भी करना चाहिए।


जूना अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने बंगाल पंजाब की घटनाओं का जिक्र करते हुए धर्मांतरण को गलत बताया।
निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी ने कहा कि विहिप की बैठक में मठ मंदिर, धर्मांतरण और कॉमन सिविल कोड पर एक अच्छा निर्णय आने वाला है।

उत्तराखंड