विशेष- मानसून की पहली बरसात में खिलने लगा राज्य पुष्प ब्रह्मकमल- हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग सहित पूरी भ्यूंडार घाटी देवपुष्प ब्रह्मकमल से हुई गुलजार

विशेष- मानसून की पहली बरसात में खिलने लगा राज्य पुष्प ब्रह्मकमल- हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग सहित पूरी भ्यूंडार घाटी देवपुष्प ब्रह्मकमल से हुई गुलजार

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- मानसून की पहली ही बरसात में उत्तराखंड का राज्य पुष्प ब्रह्मकमल खिलने लगा है।
हेमकुंड साहिब यात्रा पैदल मार्ग पर ब्रह्मकमल पुष्प खिल रहे हैं हालांकि सबसे अधिक ब्रह्मकमल के पुष्प अगस्त महीने में खिलते हैं मगर इस बार समय से पहले ही जुलाई महीने में ब्रह्मकमल खिलने लगे हैं।

उच्च हिमालयी क्षेत्र में समुंद्रतल से करीब 3 हजार मीटर से लेकर 4800 मीटर तक की ऊंचाई पर खिलने वाले देवपुष्प ब्रह्मकमल से हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग समेत पूरी भ्यूंडार घाटी गुलजार हो रही है।
भगवान शिव और माता पार्वती को भी ब्रह्मकमल पुष्प बेहद प्रिय है यही वजह है कि प्रत्येक वर्ष नंदाष्टमी के दिन उत्तराखंड की कुल देवी माँ नंदा को ब्रह्मकमल पुष्प अर्पित किये जाने की भी परम्परा है।

उत्तराखंड