राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत उत्तराखंड के पंचायतों का ढांचागत सुधार- आत्मनिर्भर पंचायत,स्वस्थ गांव सहित क्षमताओं का होगा विकास

राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत उत्तराखंड के पंचायतों का ढांचागत सुधार- आत्मनिर्भर पंचायत,स्वस्थ गांव सहित क्षमताओं का होगा विकास

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- जल्द ही उत्तराखंड के सभी ग्राम पंचायतों का ढांचागत विकास होने जा रहा है जिसमें पंचायत घरों,सीएससी सेंटरों,स्वस्थ गांवों व क्षमताओं का विकास होना है।
आरजीएसए यानी राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत केन्द्र सरकार द्वारा पंचायतों को सशक्त बनाने के लिये राज्य को 135 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गई है इस धनराशि से ग्राम पंचायतों का सतत विकास किया जाना है।

संयुक्त सचिव पंचायती राज ओंकार सिंह के मुताबिक आरजीएसए के तहत वर्ष 2022-23 के लिये केन्द्र सरकार ने 135 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गई है इस राशि से निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति,पंचायत घरों का सौंदर्यीकरण,प्रशिक्षण कार्यक्रम व मैन पावर में उपयोग किया जायेगा जिससे कि गांवों का समग्र विकास हो और गांव आत्मनिर्भर बन सकें।
संयुक्त सचिव ओंकार सिंह ने बताया कि विभाग में अभी कई पदों पर रिक्तियां चल रही हैं जिसको बढ़ाने पर सरकार विचार कर रही है जल्द ही विभागीय रिक्तियों को भी पूरा किया जायेगा उन्होंने दावा किया है कि आने वाले एक साल के भीतर उत्तराखंड के गांवों की तस्वीर बदल जायेगी जिसके लिये पूरा खाका तैयार किया गया है।

उत्तराखंड