पर्यावरण मित्रों की हड़ताल से चरमराई सफाई व्यवस्था- कूड़े से पटी सरोवर नगरी- जगह-जगह बिखरा कूड़ा बीमारियों को दे रहा आमंत्रण

पर्यावरण मित्रों की हड़ताल से चरमराई सफाई व्यवस्था- कूड़े से पटी सरोवर नगरी- जगह-जगह बिखरा कूड़ा बीमारियों को दे रहा आमंत्रण

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- पूरे प्रदेश में पर्यावरण मित्र अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं।
पर्यावरण मित्रों के कार्य बहिष्कार का असर अब दिखने लगा है जगह-जगह एकत्र कूड़े के ढेर बीमारियों को आमंत्रण दे रहे हैं।
बात अगर नैनीताल की करें तो यहाँ पूरा शहर कुढ़े के ढेर में तब्दील होने लगा है शहर में प्रवेश करते ही कुढ़े के ढेर कई सवाल खड़े कर रहें हैं।

यही नहीं लगातार हो रही बारिश और सड़ा गला कूड़ा फिजाओं में भी जहर घोल रहा है।
शायद आपको याद होगा पिछले वर्ष कोरोना काल में इन्हीं पर्यावरण मित्रों को फ्रंट लाइन वॉरियर्स का सम्मान दिया जा रहा था लेकिन अब इनकी जायज मांगों को भी अनदेखा किया जा रहा है।

पर्यावरण मित्र ठेका प्रथा को समाप्त करने के साथ ही नियमित भर्तियों की मांग सहित कुछ अहम मांगों को लेकर पूरे प्रदेश में चरणबद्ध आन्दोलन कर रहे हैं।
ऐसे में सरकार को इनकी मांगों पर अमल करना चाहिये क्योंकि ये हमारे जीवन का सबसे अहम हिस्सा हैं।

उत्तराखंड