शहर की सफाई व्यवस्था धड़ाम- हजारों टन कूड़ा लोगों के लिये बना मुसीबत

शहर की सफाई व्यवस्था धड़ाम- हजारों टन कूड़ा लोगों के लिये बना मुसीबत

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- 11 सूत्रीय मांगों को लेकर कार्य बहिष्कार कर रहे पर्यावरण मित्रों की बातों को अभी भी अनसुना किया जा रहा है जिसके चलते शहर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है और पूरे शहर में कूड़े के ढ़ेर जमा हो गये हैं।प्रदेश स्तर पर पिछले 6 दिनों से पर्यावरण मित्र अपनी मांगों को लेकर कार्य बहिष्कार पर हैं लेकिन सरकार ने तक इनकी मांगों पर कोई विचार नही किया है।

शनिवार को भी देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी छठे दिन भी कार्य बहिष्कार में रहे पालिका कार्यालय में पर्यावरण मित्रों का धरना प्रदर्शन जारी रहा।
महासचिव सोनू सहदेव ने बताया कि उन्हें अब आश्वासन नहीं बल्कि शासनादेश चाहिये।

पालिका अध्यक्ष ने देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारियों के साथ वार्ता की और कहा कि शहर की सफाई व्यवस्था का बुरा हाल है
एक तरफ संक्रमण के खतरे से सभी लोग परेशान हैं अगर शहर का कूड़ा इसी तरह सड़को में बिखरा रहा तो डेंगू और मलेरिया जैसी अन्य बीमारियों का भी खतरा बढ़ सकता है।

उत्तराखंड