ग्रामीणों की पुकार- रोड नहीं तो वोट नहीं

ग्रामीणों की पुकार- रोड नहीं तो वोट नहीं

रिपोर्ट- नैनीताल
नैनीताल- नैनीताल जनपद में आजादी के इतने सालों बाद भी कई गांव के ग्रामीण मूलभूत सुविधाओं सड़क शिक्षा व स्वास्थ्य से वंचित है।
विधानसभा भीमताल क्षेत्र की 30 किलोमीटर दूर मलुवाताल के ग्रामीण आज भी मूलभूत सुविधा सड़क मार्ग से वंचित है यहाँ के ग्रामीणों को आज भी 30 किलोमीटर का पैदल सफर तय कर मुख्य मार्ग तक पहुंचना पड़ता है।

कृषि बाहुल्य क्षेत्र होने के चलते खासकर काश्तकारों को अपने उत्पादों को मंडियों तक पहुंचाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है ऐसे में कई बार काश्तकारों को उनके उत्पादों की लागत का मूल्य भी नहीं मिल पाता है।

वहीं स्थिति तब विकराल हो जाती है जब गांव में किसी का स्वास्थ्य खराब हो जाता है तो उसको अस्पताल तक पहुंचाने के लिए ग्रामीणों को डोली के सहारे मरीज को कंधे में रखकर उबड़ खाबड़ रास्ते के जरिए मुख्य मार्ग तक लाया जाता है उसके बाद वहां से अस्पताल पहुंचाया जाता है।


निराश,हताश व परेशान ग्रामीणों ने 2022 विधानसभा के मद्देनजर आर पार की लड़ाई का ऐलान करते हुवे रोड नहीं तो वोट नहीं का नारा दिया है।

उत्तराखंड