सराहनीय पहल- BHEL भी देगा मेडिकल ऑक्सीजन- ऑक्सीजन को लेकर मचे हाहाकार पर लोगों की मदद को आगे आया BHEL

सराहनीय पहल- BHEL भी देगा मेडिकल ऑक्सीजन- ऑक्सीजन को लेकर मचे हाहाकार पर लोगों की मदद को आगे आया BHEL

रिपोर्ट- हरिद्वार ब्यूरो
हरिद्वार-(उत्तराखंड)- देश की भारी विद्युत संयत्र बनाने वाली महारत्न कंपनी BHEL भी ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए सामने आया है। बीएचईएल ने अपनी हरिद्वार इकाई में 2 ऑक्सीजन प्लांट से ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू कर दिया है।
बीएचईएल ने दिल्ली,नोएडा, मेरठ,आगरा आदि शहरों में ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू कर दी है।
कोरोना काल में मरीजो के लिए जरूरत को देखते हुए बीएचईएल ने अपने प्लांट में ऑक्सीजन का इंडस्ट्रियल उपयोग फिलहाल बन्द कर रोजाना 24 हजार क्यूबिक मीटर का उत्पादन शुरू कर दिया गया है।
देश मे जंहा इस वक्त ऑक्सीजन की भारी किल्लत से कोरोना के मरीज त्राहिमाम कर रहे है तो ऐसे में भारी विद्युत संयत्र बनाने वाली देश की महारत्न कंपनी BHEL ने भी अपनी हरिद्वार इकाई में ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू कर दिया है।

BHEL की हरिद्वार इकाई में 2 ऑक्सीजन प्लांट है जिनमे औद्योगिक कार्यो के लिए ऑक्सीजन का उत्पादन किया जाता है।
BHEL के अपर महाप्रबंधक राकेश मनिकताला के अनुसार कोरोना महामारी में ऑक्सीजन की भारी किल्लत को देखते हुए BHEL ने अपने दोनों प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू कर दिया है और फिलहाल दोनों प्लांट से 24 हजार क्यूबिक मीटर ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा रहा है।
मनिकताला ने बताया की दो दिन से ऑक्सीजन दिल्ली, मेरठ,आगरा व नोएडा आदि शहरों में भेजी जा रही है।
आपको बता दें कि BHEL में ढाई सौ क्यूबिक मीटर और साढ़े सात सौ क्यूबिक मीटर प्रति घंटे की क्षमता के 2 प्लांट है इन दोनों प्लांटों में इस वक्त केवल मेडिकल जरूरत के लिए ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा रहा है।
[banner caption_position=”bottom” theme=”default_style” height=”auto” width=”100_percent” group=”banner” count=”-1″ transition=”fade” timer=”4000″ auto_height=”0″ show_caption=”1″ show_cta_button=”1″ use_image_tag=”1″]
BHEL की ऑक्सीजन की शुद्धता 95 प्रतिशत है और जब तक जरूरत होगी तब तक BHEL केवल मेडिकल उपयोग के लिए ऑक्सीजन बनाएगा जिसको मेरठ, दिल्ली, आगरा,नोएडा आदि स्थानों पर निजी एवं सरकारी अस्पतालों में भेजा जा रहा है।

उत्तराखंड